संदेश

January 1, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आप के हाथ की अंगुली भी भिन्न है !!

चित्र
Read all पॉलिटिशियन !! Understand voters !! https://t.co/TNqsnpQQcl

अन्योरचित्रम खलु भिन्नरूपम्
अन्येन द्वारा मम भिन्न चित्रम
आप ज देखते है वैसा ही दूसरा नहीं देखता है !! वैसे आपको भी सब अलग अलग रूप ही देखते है !! यह कटु सत्य है !!
आप के हाथ की अंगुली भी भिन्न है !! अरे एक ही चीज़ को सब अपनी अपनी नज़र से देखते है !! ईश्वर एक है फिर भी अलग  अलग तरीके से उसके रूप को दिखाकर नए नए धरम बनाते है !!क्लास में एक बच्चा ९० तो एक ७०  पर्सन्टेज  ले आता  है !! एक ही दुनिया में कोई  कोई ज्यादा कमाई कर लेता है कोई कम !! कोई युही मोटा है कोई दुबला !! एक अनेकान्त वाद की कल्पना है एक वन नेस  की !!यह जगत में असमानता में रही एकता सबसे ऊँची बात है !! बाकि तो जो समानता की बात करते है वो तो दुनिया को उल्लू बनाने का व्यापार है !! यही अलगता वैविध्यता में एक ही ईश्वर छुपा है !!  बस उसे जानना  है !! समजाना है !! मदद की बात अच्छी है !! लेकिन भिकारी बना देना  वो गलत है !! आर्यभट्ट ब्रह्मगुप्त भास्कचार्य जैसे महान पंडित वैज्ञानिक की बाते करना और सही में उनके जैसा संशोधन में खो जाना अलग बात है !! आम्बेडकर ने सामान्य …