मथुरा काशी

 उसके साथ भगवन चले !!! अध्यात्म के सुर

चंदा और बिजली नमक फिल्म में नीरज की रचना वाला गीत में जिसके साथ कोई ना हो उसको याद कराया गया है --

साथ ना जिसके चलता कोई उसके साथ भगवन चले !!

और भी कहा है --

ढूंढे जिसे मन सामने है वो जाए न पहेचाना लेकिन !!

किस्मत की बात तो देखो !!

फिर भी यात्रा वालो को कह भ डाला है

दिल है तेरा साफ तो प्यारे घर में मथुरा काशी है !!

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पंचाग्नि विद्या

तत्व फल

भगवान को वंदन ।